मुलायम के उम्मीदवारों की सूची से अखिलेश समर्थक गायब

December 28, 2016, 6:44 pm
Share on Whatsapp
img

लखनऊ- उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ समाजवादी पार्टी की राज्य विधानसभा की कुल 403 में से आज घोषित 325 उम्मीदवारों में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव समर्थकों को करारा झटका लगा है, सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव ने उम्मीदवारों की सूची घोषित की।

अखिलेश यादव के कट्टर समर्थक ग्राम्य विकास मंत्री अरविंद सिंह गोप का टिकट बाराबंकी के रामनगर क्षेत्र से काट दिया गया है। उनके स्थान पर वरिष्ठ नेता बेनी प्रसाद वर्मा के पुत्र राकेश वर्मा को टिकट दिया गया है। मुख्यमंत्री के एक और नजदीकी पंचायती राजमंत्री राम गोविन्द चौधरी का टिकट काटकर नीरज सिंह गुड्डू को उम्मीदवार घोषित किया गया है। अयोध्या विधानसभा क्षेत्र से विधायक और वन राज्यमंत्री तेज नारायण उर्फ पवन पाण्डेय का टिकट काटकर उनके स्थान पर आशीष पाण्डेय उर्फ दीपू को उम्मीदवार घोषित किया गया है। पवन पाण्डेय पर सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के नजदीकी और विधान परिषद सदस्य आशु मलिक के साथ गत 24 अक्टूबर को मारपीट करने का आरोप है।

मुलायम सिंह यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव जिस सीट से भी चाहेंगे, चुनाव लडेंगे। अखिलेश जहां से चाहेगा चुनाव लडेगा।

उनसे पूछा गया था कि पार्टी अखिलेश यादव को कहां से चुनाव लडवायेगी। मुख्यमंत्री सपा अध्यक्ष के पुत्र हैं और टिकट बंटवारे को लेकर परिवार में मतभेद की खबरें आ रही थीं। मुख्यमंत्री ने 403 उम्मीदवारों की सूची अलग से पार्टी अध्यक्ष को दी थी। अखिलेश यादव ने कहा था कि उन्हें जो कुछ भी कहना है वह नेताजी (मुलायम सिंह यादव) से कहेंगे। सूत्रों के अनुसार मुख्यमंत्री ने अतीक अहमद जैसे अपराधिक छवि के लोगों को टिकट देने पर आपत्ति उठायी थी हालांकि आज घोषित सूची में अतीक अहमद का नाम कानपुर कैन्ट क्षेत्र से शामिल है। सपा अध्यक्ष ने नोटबंदी के 50 दिन पूरे होने पर कहा कि भारतीय जनता पार्टी को इसका जवाब जल्द ही मिल जाएगा। जनता जवाब देगी। भाजपा कभी सही नहीं बोलती। लोकसभा चुनाव के पहले कहा था कि विदेश से कालाधन निकलवाकर सभी के खातों में 15-15 लाख रुपये डलवा दिये जाएंगे। क्या किसी के खाते में एक पैसा आया।

Similar Post You May Like

Around The World

loading...

More News