जोगी ने मोदी को पत्र भेजकर दिलाया चुनावी वादों पर ध्‍यान

October 22, 2016, 5:52 pm
Share on Whatsapp
img

रायपुर- छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी ने आज प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को पत्र भेंजकर छत्तीसगढ़ भाजपा के 2013 के विधानसभा चुनाव के दौरान जारी घोषणा पत्र में किसानों के लिए किए वादों को पूरा करने की मांग की है।

जोगी स्वयं कार्यकर्ताओं के साथ राजधानी के जयस्तंभ स्थित मुख्य डाकघर पहुंचकर प्रधानमंत्री मोदी को पत्र स्पीड पोस्ट किया,जिसमें उनसे अनुरोध किया गया कि अगले सप्ताह जब छत्तीसगढ़ आएं तो इस(घोषणा पत्र) वचन पत्र को कृपया पढ़ कर आएं और किसानों से किया हुआ वादा निभाएं। इस दौरान उनके साथ कइति रूप से आत्महत्या करने वाले कई किसानों के परिजन भी मौजूद थे।

उन्होने पत्र में कहा कि आपके आगामी छत्तीसगढ़ प्रवास के दौरान आपसे मिलने के लिए मैनें समय भी मांगा है।

यह स्पीड पोस्ट से वचन पत्र आपको इसलिए भेज रहा हूं कि आप यह पढ़ कर फिर से याद कर लें कि क्या क्या वादे यहां किए गए थे, जिनमें से क्या क्या वादे पूरे नहीं किए गए। उस घोषणा पत्र में आपकी तस्वीर को याद रखकर 2014 में किसानों ने आपको देश का मुखिया भी चुना था। तो अब मुखिया बनकर फिर आ रहे हैं तो उस वचन को निभाएं भी, जिस पर आपकी सहमति थी । जोगी ने कहा कि छत्तीसगढ़ की रीढ़ की हड्डी हमारे किसान भाई हैं, जो अदम्य मेहनत और अपना खून पसीना बहा कर छत्तीसगढ़ ही नहीं बल्कि पूरे देश को अन्न खिलाते हैं। वर्ष 2013 में विधानसभा से पूर्व छत्तीसगढ़ चुनाव से पूर्व छग भाजपा ने जो घोषणा पत्र (वचन पत्र) जारी किया था, उसमें प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार होने के नाते मोदी जी की तस्वीर थी। इसलिए वह वचन निभाने की जिम्मेदारी उनकी बनती है। जोगी ने कहा कि उस वचन पत्र में भाजपा ने छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने, छत्तीसगढ़ के हमारे अन्नदाताओं से वर्ष 2013 में 2100रुपये प्रति क्विंटल धान का समर्थन मूल्य एवं 300 रुपये प्रति क्विंटल बोनस देने का वादा किया था। लेकिन सत्ता में आने के बाद इन वादों को भुला दिया गया जिससे छत्तीसगढ़ के किसानों पर व्यापक असर पड़ा है। वो छले गए हैं। उन्हें न तो धान का उचित मूल्य मिला रहा है और न ही बोनस।

Similar Post You May Like

Around The World

loading...

More News