हिमाचल प्रदेश में बजा चुनावी बिगुल, VVPAT से होंगे चुनाव

October 12, 2017, 4:46 pm
Share on Whatsapp
img

नई दिल्ली: हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान हो गया. इसके साथ ही अब आचार संहिता भी लागू हो गई है. चुनाव आयोग ने गुरुवार शाम आगामी हिमाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान करते हुए बताया कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव 7521 पोलिंग बुथ पर कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान नामांकन, रैली और जुलूस की वीडियोग्राफी होगी. चुनाव आयोग ने कहा कि राज्य में 9 नवंबर को मतदान और 18 नवंबर को वोटों की गिनती होगी. जांच में हर सीट पर एक बूथ की पर्चियों की गिनती होगी, चुनाव में एक उम्मीदवार 28 लाख रुपये तक खर्च कर सकता है. आचार संहिता लागू होने से केंद्र सरकार भी राज्य के लिए कोई घोषणा नहीं कर सकती, वीवीपैट से सिर्फ वोटर को जानकारी के लिए पर्ची निकलती है. वीवीपैट में वोट देने के बाद किसे वोट दिया ये मालूम होगा, वोट देने के बाद जो पर्ची निकलेगी उससे पता चलेगा. वोटिंग, नामांकन, रैली, काउंटिंग हॉल की भी वीडियोग्राफी होगी. सभी पोलिंग बूथों पर वीवीपैट का इस्तेमाल होगा. देश में पहली बार सभी सीटों पर वीवीपैट का इस्तेमाल हो रहा है। वैसे, आज गुजरात के विधानसभा के चुनाव तारीखों का एलान नहीं हुआ.  
आपको बता दें कि पिछली बार हिमाचल प्रदेश में नवंबर महीने में विधानसभा के चुनाव हुए थे और माना जा रहा है कि इस बार भी वहां नवंबर के आखिरी हफ्ते में चुनाव होगा, क्योंकि देर होने के बाद बर्फबारी का खतरा बढ़ जाता है.
हिमाचल प्रदेश में विधानसभा की 68 सीटें हैं. बहुमत के लिए 35 सीट की जरूरत है. 2012 चुनाव के नतीजों में कांग्रेस को 36, बीजेपी को 26 और अन्य को 6 सीटें मिली थी. अभी कांग्रेस के वीरभद्र सिंह सीएम हैं. दूसरी तरफ गुजरात चुनाव को लेकर ये कयास लगाए जा रहे हैं कि यहां दिसंबर के पहले या दूसरे हफ्ते में चुनाव हो सकता है. चुनाव आयोग और बीजेपी नेताओं की तरफ से इसके संकेत मिले हैं. माना जा रहा है कि गुजरात में दो चरणों में चुनाव होंगे.

हिमाचल से संबंधित जरूरी जानकारी – हिमाचल प्रदेश में विधानसभा की कुल सीट 68 है – 2012 में कांग्रेस ने 36 सीटें जीती थी – बीजेपी को तब 26 सीटों पर जीत मिली थी – निर्दलीय सहित अन्य के खाते में तब 6 सीटें गई – 2014 में बीजेपी 59 सीटों पर आगे थी – कांग्रेस तब महज 9 सीटों पर ही आगे थी – 2012 में कांग्रेस को 43, बीजेपी को 38.47 % वोट – 2014 में बीजेपी को 53 और कांग्रेस को 41 % वोट मिले

Similar Post You May Like

Around The World

loading...

More News